Full Form of EMI, What does EMI stands For?

EMI Full Form: Equated Monthly Installment

हेलो दोस्तों, आप सबको मेरा नमस्कार.आसा है की हमारा लास्ट article “Full Form of PH” अच्छा लगा होगा. In this article हम जानने जा रहे हैं: Full Form of EMI, EMI ka Full Form Kya hai, EMI meaning, EMI calculation, EMI interest rate, Advantages of EMI, etc.

EMI meaning/full form kya hai?

  • EMI meaning Equated Monthly Installment hai.
  • यह एक fixed payment amount है जो borrower किसी specific period के लिए every month की एक specific date को moneylender को pay करता है.
  • Equated Monthly Installment(EMI) में एक principal component and interest component consist होते हैं, जो एक borrower को full loan को pay off के लिए एक specific number में lender over के लिए माना जाता है.
  • So, यह principal and interest rate का एक unequal combination है.
  • If आप किसी bank से loan लेने की plan बना रहे हैं, तो आपको यह समझना चाहिए कि bank किस तरह से EMI पर काम करते हैं.
  • So that आप different banks के various loan options evaluation सके and अपने financial constraints के अनुसार एक को chose करे.
EMI
EMI: Equated Monthly Installment

How to Calculate the EMI

EMI calculation three factors पर depend करती है.

  • Loan Amount (Principal Loan): Borrowed Amount.
  • Interest Rate: Moneylender द्वारा charge किया गया Rate of Interest.
  • Loan Tenure: Lender द्वारा entire loan including interest repay करने का time.

Flat Interest Rate

Interest calculation, whole principal loan पर की जाती है, बिना इस fact पर consider किए कि each EMI के साथ principal amount reduce हो रही है. Example के लिए, एक person एक two wheeler buy करना  चाहता है and एक flat interest rate 12% पर 100000 का two wheeler loan लेता है and इसे 5 year में pay off करना है, फिर EMI की calculation नीचे दिखाए अनुसार की जा सकती है:

  1. Principal Amount: 100000
  2. Flat rate of Interest: 12%
  3. Total Duration: 3 Year

EMI: Principal amount (100000) को 36 month से divide किया जाता है + 9% principal amount को 12 month से divide किया जाता है = 2777+750 = 3527.

Flat interest rate generally car or two-wheeler loan जैसे short term loan पर लागू होती है.

Reducing/Diminishing Balance Interest Rate

Diminishing interest rate कम होने की case में, interest amount each month vary होता है because first month की interest की calculation पूरे principal loan पर की जाती है and subsequent months के लिए interest calculation outstanding loan amount पर की जाती है. 

Diminishing interest amount calculation करने का method or formula:

  • If Principal Loan amount=500000
  • Diminishing rate of interest=12%
  • Duration=
    • First month के लिए 3 year का interest = loan amount (500, 000) * (1/12 *) * (12/100) = 5000.
    • Second month के लिए Interest = (outstanding loan amount) * (1/12) * (12/100) )

Advantages of EMI

Absence of middleman: आप middleman से contact करने की hassle के बिना directly lender को EMI का pay करते हैं.

Buying Power:

यह आपको installments में pay की allow करके आपकी monetary reach से beyond items को purchase में enable बनाता है.

Flexibility:

  • आप different banks द्वारा दिए गए different EMI option पर consider कर सकते हैं.
    • And उस amount को decide कर सकते हैं जिसे आप installments के रूप में pay करना चाहते हैं.
    • And अपनी financial position के अनुसार loan tenure भी choose करसकते हैं.

Savings Protection:

यह आपकी savings को hurt नहीं पहुंचाता है because आपको lump sum amount के बजाय minimum regular payments करने की required होती है.

Conclusion For “Full Form of EMI, What does EMI stands For?”

मुझे उम्मीद है कि ये लेख आपको “EMI” के बारे में information मिल गयी होगी.

यदि यह लेख आपको पसंद आया है और इससे आपको कुछ जानकारी मिली है तो कृपया इस लेख को साझा करें और हमे प्रोत्साहित करें.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!